वैदिक पंचांग

पंचांग शब्द संस्कृत से लिया गया है। पंचांग दो शब्दों के मिलाप से बना है। " पंच " मतलब पांच और, "अंग " मतलब हिस्सा और ये पांच हिस्से इस प्रकार हैं : वार , तिथि , करण , योग , और नक्षत्रा। पंचांग देखने का मूल उद्देश्य है शुभ मुहूर्त देखना , शुभ समय का पता लगाना और त्योहारो की तारीख जानना।

  • पिछला दिन
  • आज का पंचांग
  • अगला दिन
Mumbai Maharashtra , India

शुक्रवार, 26 मई 2017

यह वैदिक पंचांग दिन शुक्रवार, 26 मई 2017 और Mumbai Maharashtra , India इस स्थान का है। सभी पंचांग गणना दृक गणित पर आधारित है, मतलब की आकाश में ग्रहो के नक्षत्रो की स्थीती के हिसाब से। इस गणना में लहरी या चित्रपक्षीय अयनांशा का उपयोग हुआ है। वर्तमान दिन के सूर्योदय का समय लेकर ग्रहो की स्थिति का आकलन किया गया है और उसके हिसाब से बाकी की गणना की गयी है।

सामान्य पंचांग विवरण

सूर्योदय

6:0:55

सूर्यास्त

19:10:26

चन्द्र उदय

6:28:51

चन्द्र अस्त

19:50:21

सूर्य राशि

वृषभ

चंद्रा राशि

वृषभ

ऋतु

ग्रीष्म

अयन

उत्तरायण

पंचांग तत्व

तिथि

Shukla Pratipada   upto   21 : 19 : 47

Note -This is also called Nanda Tithi
Deity - Brahma
Summary - Auspicious for all types of religious and auspicious ceremonies, festivals and activities related to real estate.

योग

Sukarma   upto   18 : 53 : 56

Note - Auspicious yoga,Good for auspicious undertakings.
Meaning - (Virtuous) — performs noble deeds, magnanimous and charitable, wealthy.

नक्षत्रा

Rohini   upto   21 : 5 : 36

Note - This nakshatra is also comes in Udharvamukh Nakshatra
Ruler - Moon
Deity - Brahma
Summary - It is a fixed and steady msgellation and is favourable for digging wells, laying foundations or cities, buying lands, installation of Deities, the building of a temple, or any other activity desirous of a lasting or permanent effect.

करण

Kinstughna   upto   11 : 16 : 47

Deity - Kubera (Lord of wealth)
Summary - This karana falling on Sukla Paksha Pratipada causes Vaisvadeva Yoga ,which is held to be the best karana for doing any work.

महीना और संवत

महीना - अमांत

ज्येष्ठा

महीना - पूर्णिमांत

ज्येष्ठा

शक सम्वत

1936 - जया

विक्रम सम्वत

2071 - प्लवंग

शुभ समय

अभिजीत मुहूर्त

12:09
To
01:01

योग

सर्वार्थ सिद्धि योग

अशुभ समय

राहुकाल

10:56:59
To
12:35:41

गुलिक काल

07:39:37
To
09:18:18

यमघंट काल

15:53:03
To
17:31:44

निवास , दिशा शूल और उपाय

दिशा शूल

पश्चिम दिशा में

नक्षत्र शूल

Warning: Illegal offset type in /var/www/panchang/hindi/default.php on line 205 दिशा में

चन्द्र वास

पूर्व दिशा में

दिशा शूल उपाय

"जन्म पत्रिका , कुंडली मिलान ,उपाय और बहुत कुछ आपके एक क्लिक पर। सभी बिल्कुल मुफ्त। "

गूगल से लोगिन करें फेसबुक से लोगिन करें अपने ईमेल से जुड़े